Home अन्य कोरोना के डर से भाई के शव के साथ दो दिन कैंटीन...

कोरोना के डर से भाई के शव के साथ दो दिन कैंटीन में ही बंद रहा शख्‍स

कोरोना के डर से एक व्यक्ति दो दिन अपने भाई के शव के साथ कैंटीन में ही बंद रहा। शव के सड़ने से दुर्गंध फैलने से मामले का पता चला। मामला कोलकाता पुलिस की अलीपुर बॉडीगार्ड्स लाइन का है। मृतक का नाम समीर सिंह और उसके छोटे भाई का नाम आशीष सिंह है। दोनों बॉडीगार्ड्स लाइन की कैंटीन में रहते थे। कैंटीन को हाल में सील कर दिया गया था, क्योंकि इस इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि समीर की मौत सेरेब्रल अटैक से हुई थी जबकि आशीष का कहना है कि भाई की मौत कोरोना संक्रमण से हुई और खुद के भी कोरोना संक्रमित हो जाने की वजह से वह कैंटीन से बाहर नहीं निकला। हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि नहीं हुई है। आशीष ने बताया कि मंगलवार रात मृत्यु से पहले समीर बीमार हो गया था। उसे सर्दी और बुखार जैसे लक्षण थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

रात भर पुलिस करती रही गस्त ओवरलोड वाहनों को पास कराने के लिए अवांछनीय तत्वों ने पुल से उखाड़ा गाटर

दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क शहाबगंज से योगेश कुमार कि रिपोर्ट शहाबगंज,चंदौली। स्थानीय थाना से दो सौ मीटर पर स्थित कर्मनाशा नदी पुल जर्जर होने पर...

चंद्र भानु गुप्ता कृषि स्नातकोत्तर महाविद्यालय ने प्रदर्शनी लगाकर बताएं खेती किसानी के गुण

लखनऊ विश्वविद्यालय लखनऊ का  श ताब्दी समारोह 2020 डॉ एस के सिंह   दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय लखनऊ में विश्वविद्यालय के शताब्दी पूर्ण...

देर रात हुई जमकर बारिश से किसानों में छाई मायूसी बर्बाद हुई धान की फसल

दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क तरूण भागर्व  कि रिपोर्ट चकिया,चंदौली। चकिया क्षेत्र में बृहस्पतिवार की रात को हुई जोरदार बारिश से धान की फसल की कटाई...

दो दिन के लिए रहेगा बिजली का महाकैम्प

दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क आफताब आलम कि रिपोर्ट पीडीडीयू नगर चन्दौली। उपभोक्ताओं से विद्युत बिल का भुगतान करने की अपील पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर में...

छठ पूजा की तैयारी,बाजारों से लेकर नदी के तट, तक रौनक नजर आयी

दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क शुभम कि रिपोर्ट शहाबगज,चंदौली। शुक्रवार को ब्लाक से बाजारों तक, छठ लोकआस्था का महापर्व ,एक ही दिन के होने के कारण,...