20 साल में ओडिशा से टकराने वाला सबसे खतरनाक तूफान होगा फैनी

ओडिशा : ज्वाइंट टाइफून वार्निंग सेंटर (जेडब्ल्यूटीसी) के अनुसार फैनी तूफान बीते 20 सालों में अब तक का सबसे खतरनाक चक्रवात साबित हुआ हैं। ओडिशा में 1999 में आए सुपर साइक्लोन से करीब 10 हजार लोग मारे गए थे।भारतीय मौसम विभाग सूत्रों के अनुसार पिछले 43 सालों में यह पहली बार हैं।

जब अप्रैल में भारत के आसपास मौजूद समुद्री क्षेत्र में ऐसा कोई चक्रवाती तूफान उठा। फैनी 16 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ा। यह शुक्रवार सुबह 8 बजे से 10 बजे के बीच देवस्थान पुरी के पास स्थित गोपालपुर तक पहुँचा।

बड़े आकार के साथ भारी बारिश बर्फ की गेंदों ने आंध्र प्रदेश के करीम नगर जिले के एक छोटे से गाँव को लूट लिया। जिससे भारी क्षति हुई। 20 साल का सबसे बड़ा तूफान फैनी से उड़ीसा के लगभग 10,000 गांव और 52 शहरों को प्रभावित करेगा।

फैनी तूफान का कल उड़ीसा के तट से टकराने का अनुमान हैं। इस तूफान से सिर्फ उड़ीसा में 11.5 लाख लोग प्रभावित होंगे। इन सभी लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया हैं। भारतीय मौसम विभाग सूत्रों के अनुसार पिछले 43 सालों में यह पहली बार हैं। जब अप्रैल में भारत के आसपास मौजूद समुद्री क्षेत्र में ऐसा कोई चक्रवाती तूफान उठा हैं।

इस तूफान का असर आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु के उत्तर-पूर्व इलाकों में भी दिखेगा। चक्रवात से ओडिशा के 14 जिले प्रभावित होंगे। इसमें पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपारा, बालासोर, भदरक, गंजम, खुर्दा, जाजपुर, नयागढ़, कटक, गाजापटी, मयूरभंज, ढेंकनाल और क्योंझार शामिल हैं।

क्षेत्रीय मौसम विभाग के पूर्व निदेशक शरत साहू के अनुसार- ओडिशा में 1893, 1914, 1917, 1982 और 1989 की गर्मियों में भी तूफान आए थे।

लेकिन इस बार का चक्रवात बंगाल की खाड़ी के गर्म होने से बना हैं। लिहाजा यह ज्यादा खतरनाक हो सकता हैं। भारतीय रेलवे ने सुरक्षा के लिहाज से बड़ी संख्या में ट्रेनें रद्द कर दी हैं। भुवनेश्वर एयरपोर्ट से अगले 24 घंटे तक उड़ानें प्रतिबंधित रहेंगी।

किसी आपदा से निपटने के लिए नेवी, एयरफोर्स और कोस्टगार्ड को हाईअलर्ट पर रखा गया हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन (एनडीआरएफ) और ओडिशा डिजास्टर रैपिड एक्शन फोर्स (ओडीआरएफ) को खतरे वाले इलाकों में तैनात किया गया हैं। अकेले भुवनेश्वर में दमकल की 50 टीमें तैनात की गई हैं। एक टीम में 6 सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here