हरियाणा, करनाल : करनाल पुलिस की एंटी ऑटो थेफ्ट टीम इन्चार्ज उप-निरीक्षक रोहताश सिंह को गुप्त तरीके से सुचना प्राप्त हुई जिसके आधार पर उन्होंने कैथल रोड़ करनाल पर नाकाबंदी करके आरोपी विश्वजीत उर्फ विश्वा पुत्र हुक्म चंद वासी तखाना थाना तरावड़ी जिला करनाल और विक्रम कुमार पुत्र राणूराम वासी गोंदर थाना निसिंग को चोरी की मोटरसाइकिल सहित गिरफ्तार किया।

पुलिस पुछताछ पर आरोपी ने कई वाहन चोरी की वारदातों का खुलासा किया। पुलिस टीम द्वारा दोनों आरोपियों को माननीय अदालत के सामने पेश कर पुलिस रिमांड हासिल किया गया। दौराने रिमांड पुलिस पूछताछ पर आरोपियों के कब्जे तीन ओर चोरीशुदा मोटरसाइकिल बरामद की गई।

दोनों आरोपियों से कुल 4 मोटरसाइकिलें बरामद हुई। जो इनके द्वारा इनमें से दो मोटरसाइकिल थाना तरावड़ी क्षेत्र से, एक सिविल लाईन क्षेत्र से व एक थाना लाडवा क्षेत्र से चोरी की गई थी। जिनके संबंध में शिकायतकर्ताओं की शिकायत पर पहले से ही संबंधित थानों में मामले दर्ज हैं।

इसके अलावा एंटी ऑटो थेफ्ट करनाल की एक अन्य टीम द्वारा भी गुप्त सुचना के आधार पर आरोपी सुनील कुमार पुत्र बंसी लाल वासी तरावड़ी को तरावड़ी क्षेत्र में नाकाबंदी करके चोरी की मोटरसाइकिल सहित गिरफ्तार किया। जिसे माननीय अदालत के सामने पेशकर एक दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया।

दौराने रिमांड आरोपी ने एक ओर मोटरसाइकिल चोरी की वारदात का खुलासा किया। जो पुलिस टीम द्वारा उससे पूछताछ कर उसकी निशानदेही के आधार पर बरामद की गई। आरोपी के कब्जे से पुलिस द्वारा कुल दो मोटरसाइकिल बरामद की गई।

पुलिस द्वारा कुल तीन आरोपी गिरफ्तार किए गए। जिनके कब्जे से कुल छह मोटरसाइकिल बरामद हुई। आरोपियों की रिमांड अवधी समाप्त होने के बाद तीनों आरोपियों को पुनः माननीय अदालत के सामने पेश किया गया। जहां से अदालत के आदेशानुसार तीनों आरोपियों को न्यायीक हिरासत में जिला जेल करनाल भेज दिया गया।

पुलिस जांच के दौरान सामने आया कि आरोपी विश्वजीत उर्फ विश्वा पहले भी वाहन चोरी के मामले में गिरफ्तार होकर जेल जा चुका हैं और यह करीब 6 महीने पहले ही जमानत पर जेल से बाहर आया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here