हरियाणा, करनाल : जैसा कि विदित हैं कि सुबह अग्गी पार्क रामनगर करनाल में एक अज्ञात नौजवान व्यक्ति का शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। सुचना मिलते ही प्रबंधक थाना शहर करनाल और रामनगर चौकी इन्चार्ज अपनी-अपनी टीमों के साथ मौके पर पहुंचे। मौके पर ही एफ.एस.एल. टीम को बुलाया गया और साक्ष्य एकत्रित किए गए

पुलिस टीम द्वारा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज करनाल के शवग्रह में रखा गया व उसकी पहचान के लिए प्रयास शुरू किया गया। उसी दिन मृतक की पहचान वरूण सचदेवा पुत्र दर्शन लाल सचदेवा वासी रामनगर करनाल के रूप में हुई। जो पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया गया।

रामनगर पुलिस टीम द्वारा मृतक के पिता दर्शन लाल सचदेवा की शिकायत पर मुकदमा नं.- 523 धारा 302,34 भा.द.स. के तहत थाना शहर करनाल में दर्ज किया गया। यह मामला जैसे ही पुलिस अधीक्षक करनाल श्री सुरेन्द्र सिंह भौरिया के संज्ञान में आया तो उन्होंने मामले को गंभीरता से देखते हुए प्रबंधक थाना शहर करनाल निरीक्षक हरजिन्द्र सिंह को जांच कर वारदात के उचित कारणों का पता लगाने व इसमें शामिल आरोपियों को गिरफ्तार करने के आदेश दिए।

पुलिस कप्तान के आदेशानुसार निरीक्षक हरजिन्द्र सिंह द्वारा तुरंत प्रभाव से रामनगर चौकी इन्चार्ज उप-निरीक्षक जसविन्द्र तुली की अध्यक्षता में एक टीम का गठन कर मामले की जांच शुरू की गई। जांच के दौरान उप-निरीक्षक जसविन्द्र तुली व उनकी टीम द्वारा घटनास्थल पर मिले सभी साक्ष्यों को जोड़कर कर, परख कर आरोपियों तक पहुंचने के लिए रास्ता तैयार किया गया।

शक के घेरे में आए कुछ लोगों से इस संबंध में पूछताछ भी की गई। लेकिन अभी तक कोई ऐसा ठोस तथ्य सामने नहीं आया। जिससे किसी को गिरफ्तार किया जा सके। मृतक वरूण के दो साथी जो पुलिस के शक के दायरे में थे। वारदात के दिन से ही घर से फरार चल रहे थे और पुलिस निरंतर उनकी तलाश कर रही थी।

पुलिस टीम लगातार उनकी तलाश में अलग-अलग स्थानों पर दबिश दे रही थी। जिससे घबराकर एक आरोपी गुरदीप सिंह उर्फ बग्गा पुत्र पप्पा सिंह वासी शिव कॉलोनी करनाल ने माननीय अदालत के सामने सरेंडर कर दिया और उसके एक अन्य साथी को करनाल से ही गिरफ्तार किया गया। जिसकी आयु 18 वर्ष से कम होने के कारण उसे आज ही माननीय अदालत के सामने पेशकर अदालत के आदेशानुसार बाल सुधार ग्रह मधुबन में भेज दिया गया।

पुलिस जांच में सामने आया कि देर शाम आरोपियों द्वारा फोनकर मृतक वरूण सचदेवा को घर से बुलाया गया। जो उसके साथ डी.जे. टीम के साथ नौकरी लगवाने को लेकर बातचीत की गई व उसके बाद उन तीनों ने खुब शराब पी।

शराब पिने के बाद वे तीनों अग्गी पार्क में ही सो गए और कुछ देर बाद उठने के बाद उनके बीच किसी बात को लेकर कहासुनी शुरू हो गई व जिससे गुस्से में आए दोनों आरोपियों ने उसके कपड़े फाड़ दिए और एक के बाद एक उसके सिर पर ईंटों के वार कर उसे मार डाला।

पुलिस टीम द्वारा आरोपी गुरदीप को कब्जे में लेकर उससे पूछताछ के लिए सोमवार दिनांक 24.06.2019 का प्रोडक्शन वारंट अदालत में लगा दिया गया हैं। जिसे पुलिस रिमांड पर लेकर गहनता से पूछताछ की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here