नई दिल्ली : डॉ. हर्ष वर्धन जी ने फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी (FSSAI) के Eat Right India for Sustainable Living अभियान के तहत दिल्ली की एक स्वयंसेवी संस्था ‘प्रयास’ में बच्चों के बीच पहुंच कर उन्हें Single use plastics के खिलाफ जागरूक किया। कार्यक्रम में डॉ. हर्ष वर्धन जी ने F&B सेक्टर को प्लास्टिक मुक्त करने पर जोर दिया।

Eat Right India for Sustainable Living अभियान के दौरान डॉ. हर्ष वर्धन जी ने पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रीन गुड डीड्स की चर्चा करते हुए कहा कि कुछ छोटे-बड़े कदम उठाकर इस दिशा में अहम योगदान दिया जा सकता हैं। हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रीन गुड डीड्स अभियान को अपने जीवन में अपनाने के लिए अपनी आदतों में थोड़ा बहुत परिवर्तन करना होगा।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि ग्रीन गुड डीड्स को अपने जीवन में अपनाने के लिए ग्रीन गुड बिहेवियर बनाइए साथ ही लोगों को यह भी याद दिलाइए कि ये उनकी समाज और देश के प्रति जिम्मेदारी हैं। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सामने डॉ. हर्ष वर्धन जी ने भी एक शपथ ली थी कि डॉ. हर्ष वर्धन जी ने अपने जीवन से सिंगल यूज प्लास्टिक को हमेशा के लिए खत्म कर रहा हूं।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने बताया कि हम जो प्लास्टिक का इस्तेमाल करके उसे फेंक देते हैं वह हमारे वातावरण को दूषित करने का काम करता हैं और वर्षों हमारे सिस्टम में पड़ा रहता हैंडॉ. हर्ष वर्धन जी ने बताया कि मेरे अपने मोबाइल ऐप में 700 कार्यों की जानकारी दी गई हैं जिन्हें अपनाकर पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दिया जा सकता हैं।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि कार्यक्रम का सबसे बड़ा संदेश बच्चों ने दिया हैं। मेरे 25 साल के सार्वजनिक जीवन का अनुभव हैं कि जो काम सरकारें नहीं कर सकती हैं वो काम बच्चे कर सकते हैं। पोलियों अभियान में भी बच्चों ने बड़ी भूमिका निभाई थी। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि हमने ईट राइट इंडिया मूवमेंट शुरू किया हैं जो खाने से जुड़ी सभी पहलुओं की जानकारी देता हैं।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने बताया कि कम खाओगे तो लंबा जिओगे ये हमारे ऋषि मुनि भी कहा करते थे। स्वयं सेवी संस्था ‘प्रयास’ की चर्चा करते हुए डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि यह संस्था काफी अच्छा काम कर रही हैं वो उन बच्चों को यहां पर सारी सुविधाएं दे रही हैं जिनका दुनिया में कोई नहीं हैं। हर्ष की बात हैं कि बच्चों को अलग-अलग तरह के प्रशिक्षण देकर तैयार किया जा रहा हैं ताकि वो अपने जीवन में आगे बढ़ सकें।

बताया जा रहा हैं कि इस केन्द्र में 27 हजार बच्चे हैं। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि सरकार को छोड़कर जो समाज की बेहतरी के लिए काम करते हैं, डॉ. हर्ष वर्धन जी ने उसे काफी महत्वपूर्ण मानता हूं। सरकार सब कुछ कर सकती हैं लेकिन एक संस्था या व्यक्ति जब समाज में काम करते हैं तो वो समाज के अन्य लोगों को अच्छा करने की प्रेरणा देते हैं जो आगे चलकर एक समाजिक आंदोलन बन जाता हैं। यह काम कोई सरकार नहीं कर सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here