नई दिल्ली : डॉ. हर्ष वर्धन जी ने एम्स नई दिल्ली के 64वें स्थापना दिवस के अवसर पर ‘सार्वभौमिक स्वास्थ्य सेवा’ विषय पर एक प्रदर्शनी का उद्धाटन किया। इस अवसर पर स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अश्विनी चौबे जी भी उपस्थित थे। इस दौरान डॉ. हर्ष वर्धन जी ने एम्स की उपलब्धियों पर लगाई गई प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

प्रदर्शनी में सार्वभौमिक स्वास्थ्य सेवा के महत्व और इस दिशा में AIIMS के अब तक के योगदान को दर्शाया गया हैं। इस प्रदर्शनी का महत्व इसलिए भी हैं। क्योंकि सार्वभौमिक स्वास्थ्य प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का बड़ा सपना हैं। पिछले 6 दशकों से गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में AIIMS का सफर बेहद गौरवपूर्ण रहा हैं।

कार्यक्रम में अपने संबोधन में डॉ. हर्ष वर्धन जी ने 90 के दशक के समय को याद करते हुए कहा कि जब हमने नई दिल्ली में पोलियो अभियान की शुरूआत की थी। उस समय एम्स के डॉक्टर्स, नर्स और अन्य स्टाफ ने इस अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी देशवासियों के स्वास्थ्य के प्रति गंभीर हैं। जब पूरा विश्व यूनिवर्सल हेल्थ की बात करता हैं तो वहीं भारत में प्रधानमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजना ‘आयुष्मान भारत’ से 47 लाख लोग फायदा उठा भी चुके हैं। जब पूरा विश्व टीबी को 2030 तक खत्म करने की बात करता हैं। तो हम उसे 2025 तक ख़त्म करने का संकल्प लेते हैं।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने एम्स के डॉक्टर्स से कहा कि एम्स सिर्फ एक मेडिकल कालेज या रिसर्च सेंटर नहीं हैं। बल्कि उसे दूसरे संस्थानों के लिए मेंटर बनने की भी जरूरत हैं। एम्स के डॉक्टरों और छात्रों से मोदी जी के New India के सपने को साकार करने में योगदान देने की अपील की।

डॉ. हर्ष वर्धन जी ने कहा कि हमें हेल्थ फॉर ऑल के लिए कार्य करते हुए अपने-अपने स्तर से योगदान देना हैं। प्रधानमंत्री 2022 तक देश को न्यू इंडिया में परिवर्तित करना चाहते हैं। इसलिए हमें भी उसमें अपना योगदान देना हैं।

स्थापना दिवस के अवसर पर डॉ. हर्ष वर्धन जी ने एक मोबाइल ऐप भी लॉच किया जिससे संस्थान के डॉक्टर व कर्मचारी आपात स्थिति में एक-दूसरे से तत्काल संपर्क स्थापित कर सकेंगे। यह मोबाइल ऐप संस्थान की ओर से तैयार किया गया हैं। जिसमें सभी डॉक्टर व कर्मचारियों के फोन नंबर मौजूद होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here