नई दिल्ली : 19 अक्टूबर को जापान के ओकायामा शहर में जापान की प्रेसीडेंसी के तहत आयोजित जी-20 ओकायामा स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में भाग लिया। स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में चार प्रमुख वैश्विक स्वास्थ्य मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया गया जिनमें सार्वजनिक स्वास्थ्य कवरेज की उपलब्धि, बुजुर्ग हो रही जनसंख्या पर प्रतिक्रिया, एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध एवं इसका नियंत्रण सहित स्वास्थ्य जोखिमों का प्रबंधन और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रबंधन आदि पर चर्चा हुई।

इस दौरान डॉ. हर्ष वर्धन जी ने सार्वजनिक स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) पर अपनी बात रखते हुए समावेशी स्वास्थ्य के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ‘सब का साथ, सब का विकास, सब का विश्वास’ के विज़न, आयुष्मान भारत, ‘फिट इंडिया’ आंदोलन और ‘ईट राइट’ अभियान को रेखांकित किया। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने बताया कि भारत यूएचसी के रास्ते पर हैं और वैश्विक स्तर पर यूएचसी को बनाए रखने में प्रभावी योगदान देगा।

बुजुर्ग हो रही जनसंख्या पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए डॉ. हर्ष वर्धन जी ने 2050 तक अपनी अनुमानित 20% बुजुर्ग आबादी के लिए भारत के दृष्टिकोण को साझा किया। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने जी-20 देशों को बुजुर्गों के स्वास्थ्य देखभाल के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत बढ़ती उम्र के लोगों के लिए सुलभ, सस्ती और उच्च गुणवत्ता वाली दीर्घकालिक, व्यापक स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं प्रदान करने से संबंधित अब तक किए गए प्रयासों से अवगत कराया। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने अपने बुजुर्गों की देखभाल के साथ गरिमा सुनिश्चित करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता पर प्रकाश डाला।

20 अक्टूबर को डॉ. हर्ष वर्धन जी ने सिमुलेशन अभ्यास के दौरान दिल्ली में 1994 में सफल पल्स पोलियो अभियान, इसी अवधि में प्लेग के खतरे और 2018 में केरल में निपाह के प्रकोप के दौरान सोशल मीडिया पर निर्मित अफवाह को कम करने के लिए जोखिम संचार प्रबंधन को साझा किया।

जी-20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक “जी-20 स्वास्थ्य मंत्रियों की ओकायामा घोषणा” को अपनाने के बाद संपन्न हुई। इसके अलावा, जी-20 सदस्यों ने सऊदी अरब में आगामी जी-20 प्रेसीडेंसी के दौरान इस वार्ता को जारी रखने के प्रति वचनबद्धता व्यक्त की। इस अवसर पर डॉ. हर्ष वर्धन जी ने इटली, सिंगापुर, ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ द्विपक्षीय बैठक कर दोनों देशों के स्वास्थ्य व अन्य क्षेत्रों से जुड़े मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की।

जापान में साइकिलिंग का बड़ा प्रचलन हैं। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने पर्यावरण संरक्षण और स्वास्थ्य के लिहाज से साइकिल के प्रचलन को बढ़ावा देने के लिए जापान सरकार की तारीफ की। सरकार ने साइकिल चालकों के लिए अलग से मार्ग बनाया हैं। डॉ. हर्ष वर्धन जी ने भी आज इस सुहाने मौसम में पुराने गीत गुनगुनाते हुए ओकायामा में साइकिल चलाने का आनंद लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here