नई दिल्ली : राष्ट्र सृजन अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष अंतर्राष्ट्रीय चिंतक व विचारक एवं राष्ट्रवादी वक्ता प्रद्युम्न कुमार सिन्हा ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा आज शनिवार (1 फरवरी 2020) को सत्र 2020-2021 के लिए लोकसभा में जो बजट पेश किया गया। उसकी सहराना करते हुए भारत को 130 करोड़ लोगों के लिए जन कल्याण हितैषी बताया।

राष्ट्र सृजन अभियान प्रमुख प्रद्युम्न कुमार सिन्हा ने बजट में किसानों के लेकर वित्त मंत्री ने अपना सम्बोधन में कहा कि किसानों के उत्थान के लिए कृषि विकास योजना को लागु किया गया हैं। मोदी सरकार का मुख्य लक्ष्य किसानों का आय दोगुना करना हैं।

16 सूत्रीय फॉर्मूले का ऐलान:-

1. मॉर्डन एग्रीकल्चर लैंड एक्ट को राज्य सरकारों द्वारा लागू करवाना।
2. 100 जिलों में पानी की व्यवस्था के लिए बड़ी योजना चलाई जाएगी। ताकि किसानों को पानी की दिक्कत ना आए।
3. पीएम कुसूम स्कीम के जरिए किसानों के पंप को सोलर पंप से जोड़ा जाएगा। इसमें 20 लाख किसानों को योजना से जोड़ा जाएगा। इसके अलावा 15 लाख किसानों के ग्रिड पंप को भी सोलर से जोड़ा जाएगा।
4. फर्टिलाइजर का बैलेंस इस्तेमाल करना। ताकि किसानों को फसल में फर्टिलाइजर के इस्तेमाल की जानकारी को बढ़ाया जा सके।
5. देश में और भी वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएंगे। इसके लिए PPP मॉडल अपनाया जाएगा।
6. महिला किसानों के लिए धन्य लक्ष्मी योजना का ऐलान किया। जिसके तहत बीज से जुड़ी योजनाओं में महिलाओं को मुख्य रूप से जोड़ा जाएगा।
7. कृषि उड़ान योजना को शुरू किया जाएगा। इंटरनेशनल, नेशनल रूट पर इस योजना को शुरू किया जाएगा।
8. दूध, मांस, मछली समेत खराब होने वाली योजनाओं के लिए रेल भी चलाई जाएगी।
9. किसानों के अनुसार से एक जिले, एक प्रोडक्ट पर फोकस किया जाएगा।
10. किसान क्रेडिट कार्ड योजना को 2021 के लिए बढ़ाया जाएगा।
11. जैविक खेती के जरिए ऑनलाइन मार्केट को बढ़ाया जाएगा।
12. दूध के प्रोडक्शन को दोगुना करने के लिए सरकार की ओर से योजना चलाई जाएगी।
13. मनरेगा के अंदर चारागार को जोड़ दिया जाएगा।
14. ब्लू इकॉनोमी के जरिए मछली पालन को बढ़ावा दिया जाएगा।
15. फिश प्रोसेसिंग को बढ़ावा दिया जाएगा।
16. किसानों को दी जाने वाली मदद को दीन दयाल योजना के तहत बढ़ाया जाएगा।

राष्ट्र सृजन अभियान प्रमुख प्रद्युम्न कुमार सिन्हा ने बताया कि मोदी सरकार का ऋण घटकर अब 48.7 प्रतिशत पर आ गया हैं। जो कि भारत के लिए शुभ संकेत हैं। 2020-2021 बजट में मुख्य रूप से टीम बिन्दुओं पर ध्यान दिया जा रहा हैं। इससे उम्मीद हैं कि भारत इकोनॉमिक डेवलपमेंट की ओर बढ़ रहा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here