कम्युनिटि रेडियों समुदाय द्वारा संचालित किया जाने वाला रेडियों स्टेशन

वर्कसाप के माध्यम से पार्टिसिपेट करने वालों ने जाना इसकी उपयोगिता व अवधारणा

वाराणसी : सूचना एवम प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार और कम्युनिटी रेडियो एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय सामुदायिक रेडियो जागरूकता कार्यशाला का आयोजन दिनांक 3 फरवरी सें शुरू हुआ। जो 5 फरवरी तक चलेगा। यह कार्यशाला स्थानीय होटल रीजेंसी में चल रही हैं।

इस कार्यशाला के आयोजन का उद्देश्य सिविल सोसाइटी कम्युनिटी रेडियो के लिए भविष्य में आवदेन करने वाले इच्छुक व्यक्तियों, कृषि विज्ञान केंद्र, कृषि संस्थान, शैक्षणिक संस्थान तथा अन्य हितकारियों के बीच कम्युनिटी रेडियो के सम्बंध में जागरुकता पैदा करना हैं।

इस कार्यशाला से योग्य प्रतिभागियों को कम्युनिटी रेडियो चलाने के लिए सरकार से लाइसेंस लेने और समाज हित में उसे गति प्रदान करने लिए उनकी क्षमता वृद्धि होगी। उल्लेखनीय हैं कि कम्युनिटी रेडियो समुदाय द्वारा सामुदायिक हितों के लिए संचालित किया जाने वाला एक तरह का रेडियो स्टेशन हैं।

जिसे भारत सरकार के उपरोक्त मंत्रालय द्वारा लाइसेंस प्रदान किया जाता हैं। कार्यशाला के संयोजक और कम्युनिटी एसोसिएशन के अध्यक्ष एन ए शाह अन्सारी द्वारा कल उद्घाटन सत्र में कम्युनिटी रेडियो स्टेशन के लिए आवेदन करने और लाइसेंस प्रदान करने के लिए प्रेरणा दी गई और इसके बारे में विस्तार से समझाया गया।

पी के अब्दुल करीम, आर्थिक सलाहकार और जी एस केसरवानी, अतिरिक्त निदेशक सूचना एवम प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा उपस्थित जनो को कम्युनिटी रेडियो के बारे में विस्तार से समझाते हुए बताया गया कि इस महत्वपूर्ण कार्य में ज्यादा से ज्यादा लोगों को आगे आना चाहिए।

भारत में सामुदायिक रेडियो के अग्रेता डॉ. आर श्रीधर ने सामुदायिक रेडियो की अवधारणा और विकास के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। कार्यशाला के विभिन्न सत्रों में अलग अलग स्थानों से विभिन्न सामुदायिक रेडियो के संचालन कर्ताओं राधा शुक्ला, शिशिर दास, एस के नियाजी, आर के सिंह, ने अपने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा की सामाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्तियों तक पहुंचने का एक  सशक्त माध्यम हैं।

एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष एम एस एच बेग ने सभी प्रतिभागियों के दिखाई गई ऊर्जा और रुचि के लिए उन्हें बधाई दी। कल कार्यशाला का आखिरी दिन हैं। जिसमें प्रतिभागियों के साथ प्रश्न मंच का आयोजन किया जाएगा। पूर्वांचल के सबसे पुराने कम्युनिटी रेडियो स्टेशन की संचालक वॉइस ऑफ आज़मगढ़ की निदेशिका सीमा श्रीवास्तव ने भी कार्यशाला का संचालन किया।

कार्यशाला में प्रमुख रूप से संदीप राणा, दीपक पुजारी, डॉ. राजेश श्रीवास्तव, राजीव खरे, के सी श्रीवास्तव, संजय अवस्थी, उदयवीर विश्वकर्मा, डॉ. राजेश कुमार श्रीवास्तव, डाॅ. धीरज मिश्र,अखिलेश प्रताप सिंह, डाॅ. राजेश चन्द पटेल, आर के सक्सेना, प्रवीण कुमार आदि कई प्रान्तों के लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम का अरेंजमेंट करने में संदीप राणा का अहम योगदान रहा। इत्यादि की महत्वपूर्ण  की उपस्थिति रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here