नई दिल्ली : राष्ट्र सृजन अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष अंतर्राष्ट्रीय चिंतक व विचारक एवं राष्ट्रवादी वक्ता प्रद्युम्न कुमार सिन्हा ने मोदी सरकार से पत्र लिखकर मांग किया हैं कि भगवान मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या में विश्व स्तर का भारतीय संस्कृति विश्वविद्यालय की भी स्थापना हो।

जिसमें भारत को करोड़ों वर्ष पुरानी भारतीय संस्कृति पर आधारित शिक्षा विद्यार्थियों को दी जाये। ताकि हम अधिक से अधिक पुरे विश्व में सनातन धर्म का प्रचार प्रसार करने में सफल हो सकें। अयोध्या में राम मंदिर के साथ ही साथ भारतीय संस्कृति पर आधारित शोध संस्थान, म्यूजियम, वैदिक शिक्षा, ज्योतिष एवं अन्य सांस्कृतिक विषयों पर आधारित शिक्षा केंद्र की स्थापना हो।

भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए श्रीराम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की स्थापना कर एवं 67 एकड़ भूमि राम मंदिर के लिए देकर एक ऐतिहासिक निर्णय लिया हैं। इस पुनीत कार्य के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को और देश के गृहमंत्री माननीय श्री अमित शाह जी को अनंत बधाई देता हैं।

भारत को आज बहुत अर्ष के बाद पहला प्रधानमंत्री मिला हैं जो अपने आप को हिन्दू कहने में गौरव का अनुभव करता हैं। और लोकसभा में खड़े होकर के जय श्री राम का जय कार लगा कर उन्होंने मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के प्रति अपनी भक्ति प्रकट की हैं। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम केवल हिन्दुओं के ही पूर्वज नहीं हैं बल्कि वो तो सभी 130 करोड़ भारतवासियों के पूर्वज एवं पालनहार हैं।

जय श्रीराम
श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्।
पी. के. सिन्हा
राष्ट्रीय अध्यक्ष
अंतरराष्ट्रीय चिंतक व विचारक
राष्ट्र सृजन अभियान, नई दिल्ली
9811575472

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here