नई दिल्ली : कोरोना वायरस से बचने के लिए दक्षेस देशों द्वारा एक संयुक्त रणनीति बनाने का प्रस्ताव दिया हैं। जिसका नेपाल और श्रीलंका जैसे सदस्य देशों ने स्वागत किया हैं। भारत के यशस्वी एवं लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने विश्व के सामने उदहारण रखने के उदेश्य से दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन के नेताओं की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए चर्चा का बाईट दिन प्रस्ताव दिया ताकि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मजबूत रणनीति बनाई जा सकें।

उनकी अपील पर श्रीलंका के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोहिल, नेपाल के प्रधानमंत्री के. पी. शर्मा ओली और भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग ने स्वागत किया। नरेंद्र मोदी जी ने कहा कि एकजुट होकर ही हम दुनिया के समक्ष उदाहरण पेश क्र सकते हैं और स्वस्थ दुनिया के प्रति योगदान कर सकते हैं।

मोदी जी के ये प्रस्ताव करने चाहते हैं कि दक्षेस देशों के नेतृत्व कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एक मजबूत रणनीति बनायें। हम हमारे नागरिकों को स्वस्थ रखने के तरीकों पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा कर सकते हैं।

हमारा ग्रह कोविड-19 से जूझ रहा हैं। विभिन्न स्तरों पर सरकारें और लोग इसका मुकाबला करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। दक्षिण एशिया को यह सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़नी चाहिए कि लोग स्वस्थ रहें।

हम दुनिया के सामने एक उदाहरण पेश कर सकते हैं और ग्रह को स्वस्थ रखने में योगदान क्र सकते हैं। दक्षेस क्षेत्रीय अंतर सरकारी संगठन हैं जिसमें भारत, भूटान, नेपाल, श्रीलंका, मालद्वीप, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here