कोरोना वायरस से संक्रमित होने के तीसरे दिन रोगी सूंघने की शक्ति खो सकता है। कोविड-19 के 100 रोगियों पर किए गए अध्ययन के बाद यह जानकारी सामने आई है। इस अध्ययन से खराब लक्षणों के बगैर वायरस की चपेट में आए लोगों की पहचान करने में स्वास्थ्य विशेषज्ञों को मदद मिल सकती है

जर्नल ऑटोलार्यगोलॉजी-हेड एंड नेक सर्जरी में टेलीफोनिक अध्ययन का परिणाम प्रकाशित किया गया है। इसमें छह सप्ताह के दौरान कोविड-19 का परीक्षण कराने वाले 103 रोगियों के लक्षणों का विश्लेषण किया गया है। स्विट्जरलैंड के आराउ से रोगियों के कई दिनों का आंकड़ा उपलब्ध कराया गया। इन रोगियों में कोविड-19 के लक्षण थे। उनमें सूंघने की शक्ति समाप्त होने की गंभीरता और समय की जानकारी दी गई। अध्ययन के सह-लेखक अहमद सेदाघाट ने यह जानकारी दी। सह-लेखक अमेरिका में यूनिवर्सिटी ऑफ सिनसिनाटी से हैं। 

सेदाघाट ने कहा कि 103 रोगियों में 61 फीसद ने सूंघने की शक्ति कमजोर होने की जानकारी दी। यह लक्षण 3.4 दिनों में उभरा। अध्ययन में यह भी पाया गया कि सूंघने की शक्ति खोने की गंभीरता कोविड-19 के अन्य खराब लक्षणों से संबद्ध है। गौरतलब है कि अमेरिका में लॉकडाउन खोलने के दबाव के बीच कोरोना संक्रमितों की मौत का सिलसिला नहीं थमा है। देश में 24 घंटे में 2448 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही अमेरिका में मरने वाालों की संख्‍या 75,543 के पार हो गई है। कोरोना में संक्रमितों का आंकड़ा 1,292,850 के पार जा चुका है। राहत देने वाली खबर यह है कि 217,251 कोरोना मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here