मांडा के आंधी गांव में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या के मामले में 4 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। क्राइम ब्रांच, एसटीएफ और स्थानीय पुलिस खुलासे में लगी है लेकिन किसी भी टीम को अभी तक हत्या की वजह पता नहीं चला। पुलिस मान के चल रही है लूट के लिए हत्या नहीं की गई। ऐसे में किसी व्यक्तिगत कारण पर ही जांच चल रही है।

मांडा के आंधी गांव निवासी बुजुर्ग नंदलाल, उनकी पत्नी और बेटी की बुधवार देर रात हत्या कर दी गई थी। पुलिस की जांच में पता चला कि जिन लोगों से नंदलाल के परिवार का जमीन का विवाद था, उनमें एक युवक जेल भी गया था। शक के आधार पर पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसके बाद क्राइम ब्रांच ने गांव और आसपास के इलाकों में जमानत पर छूटे ऐसे करीब एक दर्जन युवकों को हिरासत में लिया है जो अपराधिक प्रवृत्ति के हैं। मृतक नंदलाल की बेटी से फोन पर बातचीत करने वालों को हिरासत में लेकर पहले ही पूछताछ कर चुकी है।ऐसे में पुलिस को शक है कि हत्या के पीछे कोई रंजिश ही है। लेकिन किस रंजिश में हत्या की गई, यह पता नहीं चल पा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here