45 दिनों का साथ बदला  सात जन्मों के साथ में                        इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जो बड़ा दिलचस्प है यह कहानी है कानपुर के नीलम की जिसके माता-पिता नहीं है वह अपने भाई और भाभी के सहारे थी। लेकिन भाई और भाभी ने उसे मा रपीट कर घर से बाहर निकाल दिया वह बेसहारा और मजबूर लड़की कानपुर के एक चौराहे पर जो काका देव इलाके में नीर-छीर चौराहा है वहां भिखारियों के साथ भीख मांगने लगी।
इसी बीच कोरोनावायरस का प्रकोप शुरू हुआ इस वजह से लाकडाउन लगा दिया गया अब हालत ये हो गई कि जो थोड़ा बहुत खाने के लिए नीलम को मिल जाता था अब वह भी नसीब नहीं हो रहा था। इसी बीच कानपुर के लालता प्रसाद की भेंट नीलम से हुई उसकी हालत उनसे देखी नहीं गई लालता प्रसाद ने अपने ड्राइवर से कहा जिसका नाम अनिल है कि वह रोज नीलम को खाना पहुंचा दिया करें साथ ही वहां मौजूद अन्य जरूरतमंदों को भी खाना दे ।करीब 45 दिन तक अनिल,नीलम सहित अन्य भिखारियों को खाना पहुंचाता रहा इसी बीच उन दोनों के बीच प्रेम हो गया यह बात अनिल के पिता को पता चली तो उन्होंने नीलम का इरादा जानना चाहा नीलम इसके लिए तैयार थी। उन्होंने उन दोनों की शादी कर दी 45 दिन का साथ सात जन्मों के साथ में बदल गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here