Home Uncategorized एक ऐसा गांव जहॉ रक्षाबंधन पर बहनें नही बांध पाती भाई...

एक ऐसा गांव जहॉ रक्षाबंधन पर बहनें नही बांध पाती भाई की कलाई पर राखी

दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क

रामगढ,मध्‍य प्रदेेेेश । कैसा  संयोग है जब पूरे देश में सोमवार को  अपने भाई की कलाई पर राखी बांधकर बहनें राखी मना रही होगी, ठीक उसी वक्त मध्य प्रदेश के एक गांव में अधिकांश बहनें तुलसी के पौधे या फिर भाई की तस्वीर को राखी बांधकर उनसे देश सेवा का वचन ले रही होंगी।

देश मे जब रक्षाबंधन के पर्व पर बहने अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती हैं। ऐसे में मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के एक गांव में की युवतियां सिर्फ़ भाइयों का इंतजार करती हैं। लेकिन ये युवतियां अपने भाई की कलाई पर राखी नहीं बांधी पातीं और उनके फोटो या फिर तुलसी के पौधे पर राखी बांधकर उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं।

गांव के हर तीसरे घर का युवा आर्मी में हैं, जिस कारण सीमा पर ड्यूटी के चलते उन्हें छुट्टी नहीं मिलती। वह रक्षाबंधन पर भी घर नहीं आते और उनकी बहन इंतजार करती रहती है। लेकिन इन बहनों की खुशनसीबी हैं, कि सन 1942 से गांव के युवा आर्मी में नौकरी कर रहे हैं। लेकिन आज तक इस गांव का एक भी जवान शहीद नहीं हुआ।

राजगढ़ जिले के रामगढ़ गांव में रक्षाबंधन के पर्व पर बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधने को तरसती हैं। इस गांव के ज्यादार युवा आर्मी में भर्ती होकर देश सेवा कर रहे हैं। बहने अपने भाइयों से रक्षाबंधन पर देश सेवा का वचन लेती है।

रामगढ़ की तरह देश सेवा से जुड़ा हैं लथोनी गांव, जहां हर चौथे घर मे एक फ़ौजी
रामगढ़ गांव की तरह ही लथोनी गांव को वीरों की भूमि के नाम से जाना जाता है। इस गांव के भी हर चौथे घर से एक फ़ौजी हैं। और हर वर्ष बढ़ चढ़कर युवा सेना भर्ती में हिस्सा लेते हैं। दस से पन्द्रह युवा सेना में भर्ती होते हैं। और रक्षाबंधन पर यहां की युवतियां भी भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए तरसती हैं।और सेना में भर्ती भाई का इंतजार करती हैं।

रक्षाबंधन पर बहनों को आती है भाइयों की याद- लेकिन देश सेवा भी हैं भाइयों का फ़र्ज
पूजा राठौर के मुताबिक दिलीप और दशरथ उसके दो भाई हैं। और दोनो भाई सेना में नौकरी करते हैं। लेकिन रक्षाबंधन पर उन्हें छुट्टी नही मिलती जिस कारण वह घर नही आ पाते। यही कुछ कहना हैं सुमित्रा कुँवर का जो अपने भाई को याद कर रोते हुए कहती हैं, इस दिन का वो सालभर इंतजार करती हैं। लेकिन उनके भाई को छुट्टी नही मिल पाती और वो अपने भाई की कलाई पर राखी नही बाँध पाती हैं। बस यही सोचकर सतोष कर लेती हैं, कि परिवार से बड़ी देश सेवा हैं जिसे उसका भाई निभा रहा हैं।

Krishna Srivastava
मै के सी श्रीवास्तव एड0 पिछले 20 वर्षो से प्रिन्ट मिडीया के क्षेत्र में जिला संवाददाता के रूप में कार्य करता आ रहा हॅू । साथ ही साथ इसके अब आप के बीच दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क के माध्यम से भी आप की खबरों को नया आयाम देने के लिए तत्पर हूॅ । खबरों व विज्ञापन को हमारे वाट्सअप न0 9935932017 पर भेज सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

चकिया में यहां घटा दर्दनाक रोड हादसा,तीन हुए गम्भीर रूप से घायल ,

अवधेश दूबे की रिर्पोट दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क चकिया। स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के मुरारपुर मोड़ के पास सोमवार की रात्रि लगभग 8 बजे अभी...

भगवा रंग में सराबोर अयोध्या, हर घर पर सजा राम ध्वज

दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क अयोध्‍या ।एजेंसी । श्रीराम मंदिर भूमि पूजन की तिथि एकदम नजदीक आने के साथ ही अयोध्या में उत्सव बढ़ता...

सी आर पी एफ ने नक्‍सलियों की खोज में की सघन काम्बिंग

बृजेश केशरी की रिर्पोट  दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क नौगढ़ ।सी आर पी यफ 148 बटालियन प्रभारी कमांडेंट मनोज कुमार सिकोन के निर्देश पर द्रितीय...

कोरोना पर भारी रहा रक्षा बंधन का उत्‍साह

सैदूपुर से अनिल दूबे की रिपोर्ट - - दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क सैदूपुर,चकिया । सैदूपुर में कोरोना संक्रमण काल के दौरान पडऩे वाले रक्षाबंधन...

रक्षाबंधन पर खरीददारी करने में उड़ी सोशल डिस्टेंस की धज्जियां

चकिया से तरूण कान्‍त की रिर्पोट  दैनिक सृजन नेशनल न्यूज नेटवर्क चकिया ।श्रावण के आखिरी सोमवार व रक्षाबंधन कर पर्व पर चकिया नगर में खूब...